वक़्त का तो काम है गुजरना बुरा हो तो सब्र करो, अच्छा हो तो दुआ करो।

बुरे दिन का भी एक दिन बुरा वक्त आता है, सब्र रखो!

ना कोई शिकवा ना कोई गिला ना कोई मलाल रहा, संघर्ष भी मेरा बेहिसाब रहा सब्र भी मेरा कमाल रहा।

रोता हुआ हर एक पल मुस्कुराएगा, सब्र रख मेरी जान, तेरा भी वक़्त आयेगा।

समय जब पलटता है तो सब पलट कर रख देता है, इसलिए अच्छे दिनों में अहंकार ना करो और बुरे दिनों में थोड़ा सब्र रखो।

उस घमंडी मंज़िल को ज़रा भी खबर नहीं, उसका गुरूर टूट सकता है पर मेरा सब्र नहीं।

सहने वाले को अगर सब्र आ जाए तो कहने वाले की औकात दो टके की रह जाती है।

सब कुछ मिला है हमको, फिर भी सब्र नहीं है, बरसो की सोचते है, और अगले पल की खबर नहीं है।

सब्र से बेहतर इलाज और ख़ामोशी से बेहतर सजा और कुछ नही

मेरे पास था भी क्या एक सब्र के सिवा, वो भी आज लुटा बैठे हैं तेरे इंतजार में।

ऐसी ही रोचक Web Story देखने के लिए नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करें।

Click Here